Blog

hawaldar bahadur 1

हवलदार बहादुर मनोज कॉमिक्स (Set 1) – समीक्षा और अंदर का चित्रांकन

हवलदार बहादुर मनोज कॉमिक्स का एक बहुत ही लोकप्रिय किरदार रहा है। इसकी लोकप्रियता का अंदाज़ा आप इस बात से लगा सकते है की मनोज कॉमिक्स के प्रकाशन को बंद हुए २ दशक बीत चुके थे लेकिन हवलदार बहादुर की यादें अभी भी उसके पाठको के बीच धूमिल नहीं हुई थी। और ये हवलदार बहादुर की ख़तम न होने वाली लोकप्रियता और उसके प्रशंसकों की हट का ही नतीजा है जो हवलदार बहादुर का पुनः प्रकाशन मुमकिन हो पाया है। 

premam cover a

प्रेमम #2 (MAZE COMICS) – समीक्षा अंदर के चित्रांकन के साथ

प्रेमम भाग 2 में यश मीरा का पीछा करता एक अनजान दुनिया, समय या आयाम में पहुँचता है। लेकिन यश की खोजबीन के बाद भी उसे मीरा का नाम और निशान नहीं मिलता। इस खोजबीन में यश की मुलाकात होती है कुछ नए किरदारों से जिनका नाम है ब्रोंटो और थेरी। जिनसे यश को पता चलता है की इस विचित्र और अनजान दुनिया में एक जुंग छिड़ी हुई है जिसमे कुछ भक्षक, तो कुछ रक्षक की भूमिका निभा रहे हैं। परिस्थितिओं के अनुकूल जा कर यश ब्रोंटो और थेरी की मदद करने का निर्णय लेता है वहीँ बदले में ब्रोंटो और थेरी उसे मीरा से मिलवाने में मदद का आश्वाशन देते है। प्रेमम भाग 2 में इसी विचित्र दुनिया और इस में रहने वाले तरह तरह के जीवो पर ध्यान केंद्रित किया गया है। लेकिन सवाल ये है की क्या यश और मीरा मिल पाए या नहीं। इसका जवाब आपको मिलेगा प्रेमम भाग 2 को पढ़ कर।

the one abhimanyu

The One – Abhimanyu – Review, Ratings and Inside Art

The One – Abhimanyu is an epic tale of heroism and bravery that never gets old. This epic saga is presented with beautiful illustrations that shake you with the heinous actions that were taken that day to end the life of a young warrior. Abhimanyu played such a role in the war that he was even included in our schoolbooks. The war of Mahabharata was fought for straight 18 days but the day that decided the fate of the Kauravas was the 13th day of the war.

ek ped ek jaan

हैप्पी बर्थ डे एवं एक पेड़ एक जान – समीक्षा और अंदर के चित्र

कोलकाता कॉमिक्स की कहानिया पढ़ने के लिए हम जितने उत्साहित थे उस से ज्यादा निराशा हाथ लगी। 10 कहानिया पढ़ने के बाद हालत ऐसी थी की बुरी नहीं बल्कि ठीक ठाक कहानिया चुन नी पड़ गई।  एक पेड़ एक जान और मौत की घाटी दो ऐसी कहानिया रही जिन को पढ़ कर कहानीकार के लिए बुरा लगा क्यूंकि बाकी कहानिओ की वजह से उनके काम को भी वाहवाही नहीं मिल पाएगी।

kaal aayumi

Kaal by Aayumi productions – Review and rating

Pratham Pathak lost his life in a train accident. But that was not end but a beginning. Beginning of something that will not just change his life but also the way he sees the world he lives in too. Pratham Pathak rise again from the dead but his previous life’s memories are gone. Soon he discovers that he has been chosen to play an important role – role of Garuda-Dut. By none other than Lord Garuda who has currently been sitting on the throne of Naraka.

black gold

क्राइमफाइटर, ब्लैक गोल्ड और मुखबिर – समीक्षा और अंदर के चित्र

क्राइमफाइटर उत्पति श्रृंखला में अभी तक तीन कॉमिक्स आईं है जिनके नाम है क्राइमफाइटर, ब्लैक गोल्ड और मुखबिर। कहानी का अगला भाग जिसका नाम “मैं हूँ अंगरक्षक” जल्दी ही आने वाला है जिसमे क्राइम फाइटर के जन्म और उसके आरम्भ से जुडी कहानी कहानी बताई जाएगी। क्राइमफाइटर के बारे में कम शब्दों में कहें तो ये कहानी इंस्पेक्टर सौरभ सक्सेना की है जिसने कानून के हाथ बंधे होने के कारण अप्राधिओं को सजा देने के लिए चुना है गैर कानूनी तरीका और उसके लिए इंस्पेक्टर सौरभ को बन ना पड़ेगा क्राइमफाइटर।

Loading…

Something went wrong. Please refresh the page and/or try again.


Follow My Blog

Get new content delivered directly to your inbox.