narak nashak nagraj

नरक नाशक उत्तपत्ती श्रृंखला – समीक्षा और चित्रांकन

नागराज के जीवन और उसके अनोखे सफर की कथा बताती इस सीरीज के अभी तक कुल 6 भाग प्रकाशित हुए है जिनके नाम “मकबरा”,”तक्षक”,”नरक नाशक”,”नरक नियति”,”नरक दंश” और ‘नरक आहुति” हैँ। इसके आगे की कहानी “नागग्रन्थ” में बताई जाएगी जिसकी प्रकाशन तिथि अभी निर्धारित नहीं है। साल 2012 से शुरू हुई ये जबरदस्त सीरीज आज भी पाठकों के दिलों में अपनी विशिष्ट पहचान बनाये हुए है और इसमें कोई संदेह नहीं कि इसका आने वाला भाग “नागग्रन्थ” कॉमिक की दुनिया में नये आयामों को छुएगा।

कहानी – 9

नागतंत्रिका “नगीना” की मदद से अपने पुराने दुश्मनों तांत्रिक “विषंधर” और “तुतेन खामेन” को युद्ध में हराने के बाद “नागराज” अपने जीवन की सबसे बड़ी खोज में निकल चूका है जहाँ उसकी ज़िन्दगी के सबसे बड़े रहस्य उसकी प्रतीक्षा कर रहे हैँ। इधर विश्व अपराध जगत इकठ्ठा हुआ है एक अंजान शख्स “पापाध्यक्ष” के कहने पर “नागराज” की मौत का पुख्ता इंतज़ाम करने के लिए जिसमे “प्रोफ़ेसर नागमणि” लेना चाहता है अपने हाथों से “नागराज” को मारने का श्रेय। इसके लिए सुनाता है वो शुरुआत से “नागराज” के जन्म की गाथा कि क्यों है वो सर्वश्रेष्ठ और क्या है उसकी शक्तियों का मुख्य राज जिस वजह से वो सबसे शक्तिशाली सुपरहीरो बन पाया।

कहानी की गति

जबरदस्त एक्शन और इमोशन से भरी ये कहानी शुरू में धीमे लेकिन धीरे-धीरे अपनी रफ़्तार पकड़ती जाती है। रहस्य के पन्नों को पलटती इस कहानी में जैसे-जैसे आप आगे बढ़ोगे वैसे-वैसे इसकी गति बढ़ती जाएगी और क्लाइमेक्स तक पहुँचने से पहले ही आपको इस सीरीज से प्यार हो जायेगा। इस बात की शर्तिया गारंटी दी जा सकती है। अगर आप “नागराज” के फैन नहीं भी हो तब भी इस सीरीज के बाद आप उसको पसंद करने लगोगे।

READ  इन्फर्नो (Inferno) – समीक्षा (No Spoiler Review) - Indian Comics Hindi

कहानी का विषय

कहानी लिखी गयी है “नागराज” की जन्मकथा को लेकर जिसमे शुरू से नागराज की उत्पत्ति के बारे में बताया गया है। अगर आप नागराज के बारे में कुछ भी नहीं जानते हैँ तो इस सीरीज के माध्यम से एक बार फिर अपने हीरो की कहानी को जान पाएंगे। कहानी का मुख्य विषय ही “नागराज” के जीवन की शुरूआती कहानी है जिसमे विस्तारपूर्वक उसका पालन पोषण,उसकी शक्तियों का मिलना,उसकी ट्रेनिंग और उसके सत्य मार्ग पर चलने की कहानी को बड़ी ही खूबसूरती से बताया गया है।

कहानी का असर

“नागराज” के जीवन के तमाम रहस्यों पर से पर्दा हटाती ये कहानी इतनी बढ़िया है कि इसका असर आपको अपना दीवाना बना देगा। सीरीज का हर एक भाग इतना अच्छा बन पड़ा है कि आप इसके फैन हुए बिना रह नहीं पाएंगे।  कहानी का असर आपको अपनी गिरफ्त में ऐसे ले लेगा कि इस अनोखी सीरीज को आप बार बार पढ़ना चाहेंगे।

कहानी की पकड़

जिस खूबसूरती से कहानी लिखी गयी है वो पढ़ने वाले पे ऐसी पकड़ बनाती है कि पाठक बिना तारीफ किये रह नहीं पाता। नागराज के सफर को बेहद शानदार तरीके से बताती ये कहानी अपनी पकड़ बनाये रखने में पूरी तरह कामयाब होती है जिस वजह से अंत तक दिलचस्पी बनी रहती है।

संवाद – 10

कहानी लिखी है “नितिन मिश्रा” जी ने जो अपनी जबरदस्त कहानियों के दम पर पाठकों में अच्छे खासे लोकप्रिय हैँ। पुराने “नागराज” को एक नये रूप में दर्शाते “नितिन” जी का काम इसमें बेहद शानदार दिखाई देता है जो “नागराज” की जीवन कथा को बहुत ही बढ़िया ढंग से दिखाते हैँ। संवाद बहुत दमदार हैँ जो कहानी के अनुसार बढ़िया लगते हैँ।  जबरदस्त एक्शन के साथ विलन और हीरो के बीच की डायलॉग डिलीवरी एक बढ़िया सीन क्रिएट करती है जबकि वही संवाद इमोशनल सीन में पिता-पुत्र के बीच का भावनात्मक लगाव भी दिखाते हैँ।

READ  बजरंगी वानप्रस्थ श्रृंखला (1411, सिम्हा और ग़दर) - समीक्षा और अंदर के चित्र

चित्रांकन एवं रंग सज्जा – 8

इस बेहतरीन सीरीज में चित्रांकन है “हेमंत कुमार” जी का जिनकी बनाई शानदार आर्ट हर कॉमिक्स को बेहद खास बनाती है। हालांकि शुरू के भागों में आर्ट के साथ पूरा न्याय नहीं हुआ है और कही-कही देखने पर लगता है कि जल्दी में काम निपटाने की कोशिश की गयी है लेकिन “नरक नाशक” कॉमिक्स से इन गलतियों को इफेक्ट्स और रंगों की मदद से काफ़ी सुधारा गया है। इसमें इनका साथ दिया है स्याहिकार “जगदीश कुमार” जी,”विनोद कुमार” जी और “ईश्वर आर्ट्स” ने जिनकी इंकिंग आर्ट को और भी निखारने का काम करती है। रंग सज्जा में सहयोग है “शादाब सिद्दकी” जी,”बसंत” जी,”मोहन” जी और “अभिषेक सिंह” जी का जिनका बेमिसाल काम सीरीज की हर कॉमिक्स में दिखाई देता है।

ग्राफ़िक डिज़ाइन और अभिलेख – 8

कॉमिक्स में ग्राफ़िक डिज़ाइन का काम सबसे महत्वपूर्ण है जो इस शानदार सीरीज को नये ज़माने के हिसाब से ढालने में मदद करता है। कॉमिक्स का कवर पेज हो या अंदर के पेजस,शानदार ग्राफ़िक डिज़ाइन की बदौलत किसी विदेशी कॉमिक्स जैसी फीलिंग देते हैँ। कैलीग्राफी में “मंदार” जी और “नीरू” जी का काम प्रशंसात्मक है,लेकिन कही कही पे बबल में कलर इफ़ेक्ट ज्यादा होने से लिखा हुआ साफ समझ नहीं आता। वैसे कुछ एक दो कॉमिक्स में ऐसी समस्या दिखाई देती है बाकि अभिलेख में सब ठीक ठाक है।

ओवरआल पूरी सीरीज बेहद जबरदस्त बनी है और अगर एक साथ पढ़ने का मन बना रहे हैँ तो इससे बढ़िया कॉमिक सीरीज नहीं हो सकती। वैसे इस पूरी सीरीज को पढ़ने के बाद आप नागराज के और भी बड़े फैन बन जायेंगे।

READ  हैप्पी बर्थ डे एवं एक पेड़ एक जान – समीक्षा और अंदर के चित्र

मकबरा

  • पब्लिकेशन-राज कॉमिक्स 
  • मूल्य-50 संख्या-2500
  • पेज-80 वर्ष-2012
  • लेखक-नितिन मिश्रा,इंकिंग-जगदीश,विनोद
  • चित्रांकन-हेमंत कुमार,कैलीग्राफी-मंदार गंगेले
  • इफेक्ट्स-शादाब सिद्दीकी

तक्षक

  • पब्लिकेशन-राज कॉमिक्स 
  • मूल्य-50 संख्या-2515
  • पेज-80 वर्ष-2012
  • लेखक-नितिन मिश्रा,चित्रांकन-हेमंत कुमार
  • स्याहिकार-जगदीश,शब्दाकन-मंदार गंगेले

नरक नाशक

  • पब्लिकेशन-राज कॉमिक्स 
  • मूल्य-120 संख्या-2534
  • पेज-80 वर्ष-2013
  • लेखक-नितिन मिश्रा,चित्रांकन-हेमंत कुमार
  • इंकिंग-ईश्वर आर्ट्स,इफेक्ट्स-शादाब सिद्दक़ी,अभिषेक सिंह
  • कैलीग्राफी-नीरू

नरक नियति

  • पब्लिकेशन-राज कॉमिक्स 
  • मूल्य-120 संख्या-2543
  • पेज-80 वर्ष-2014
  • लेखक-नितिन मिश्रा,चित्रांकन-हेमंत कुमार
  • इंकिंग-विनोद कुमार,ईश्वर आर्ट्स
  • इफेक्ट्स-अभिषेक सिंह,कैलीग्राफी-नीरू

नरक दंश

  • पब्लिकेशन-राज कॉमिक्स 
  • मूल्य-120 संख्या-2554
  • पेज-96 वर्ष-2014
  • लेखक-नितिन मिश्रा,चित्रांकन-हेमंत कुमार
  • स्याहिकार-विनोद कुमार,ईश्वर आर्ट्स
  • रंग सज्जा-अभिषेक,शादाब,बसंत,
  • शब्द सज्जा-मंदार गंगेले

नरक आहुति

  • पब्लिकेशन-राज कॉमिक्स 
  • मूल्य-160 संख्या-2578
  • पेज-128 वर्ष-2015
  • लेखक-नितिन मिश्रा,चित्रांकन-हेमंत कुमार
  • इंकिंग-विनोद कुमार,ईश्वर आर्ट्स
  • रंग सज्जा-शादाब,बसंत,मोहन
  • शब्दांकन-मंदार गंगेले,नीरू

नरक नाशक श्रृंखला – कहाँ से खरीदे

हालांकि शुरू के दो भाग “मकबरा” और “तक्षक” अभी उपलब्ध नहीं है लेकिन “नागराज” के जन्म की शुरूआती कहानी बताती नरक नाशक की बाकि चार कॉमिक्स का हार्ड बाउंड कलेक्टर एडिशन आप ऑनलाइन शॉप http://www.umacart.com या http://www.comicsadda.com से आर्डर करके मंगा सकते हैँ। और जल्द ही आने वाली नरक नाशक सम्पूर्ण श्रृंखला में आप मकबरा और तक्षक भी पढ़ पाएंगे।

"नरक नाशक" संपूर्ण श्रृंखला
  • 9/10
    कहानी - 9/10
  • 10/10
    संवाद - 10/10
  • 8/10
    चित्रांकन एवं रंग सज्जा - 8/10
  • 8/10
    ग्राफ़िक डिज़ाइन और अभिलेख - 8/10
8.8/10

सार

नागराज के जीवन और उसके अनोखे सफर की कथा बताती इस सीरीज के अभी तक कुल 6 भाग प्रकाशित हुए है जिनके नाम “मकबरा”,”तक्षक”,”नरक नाशक”,”नरक नियति”,”नरक दंश” और ‘नरक आहुति” हैँ। इसके आगे की कहानी “नागग्रन्थ” में बताई जाएगी जिसकी प्रकाशन तिथि अभी निर्धारित नहीं है। साल 2012 से शुरू हुई ये जबरदस्त सीरीज आज भी पाठकों के दिलों में अपनी विशिष्ट पहचान बनाये हुए है और इसमें कोई संदेह नहीं कि इसका आने वाला भाग “नागग्रन्थ” कॉमिक की दुनिया में नये आयामों को छुएगा।

3 Comments

  1. Nalin

    Kafi behtareen series hai ye. Lekhak Nitin Mishra ji ne kafi behtar andaaz mey is shrinkhla ka srijan kiya hai jo ki pathakon k dilon mey lambe samay tak rahega. Narak nashak origin k naam se ye shrinkhla pathakon k beech kafi lokpriya hai. Ye series meri bhi pasandida shrinkhalaon me se ek hai.

Leave a Reply